raipur times
Homeधर्मHariyali Teej 2022: आज हरियाली तीज पर गलती से भी न करें...

Hariyali Teej 2022: आज हरियाली तीज पर गलती से भी न करें ये काम, होता है बड़ा अपशगुन! जाने मुहूर्त पूजन विधि…

Hariyali Teej ke Niyam: सावन महीने के शुक्‍ल पक्ष की तृतीया को हरियाली तीज मनाते हैं. इसे कुछ जगह छोटी तीज भी कहा जाता है. हरियाली तीज के दिन सुहागिनें सोलह श्रृंगार करती हैं और अपने पति की लंबी उम्र के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं. वहीं कुंवारी लड़कियां भी अच्‍छा पति पाने के लिए यह व्रत रखती हैं. इस साल हरियाली तीज 31 जुलाई 2022, रविवार को मनाई जा रही है. हरियाली तीज के व्रत को लेकर धर्म-शास्‍त्रों में कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करना बहुत जरूरी होता है. इन नियमों की अनदेखी करना बड़ा अपशगुन माना जाता है.

आज हरियाली तीज के दिन न करें ये काम 

  • – हरियाली तीज के दिन मेहंदी रचाने और सोलह श्रृंगार करने की परंपरा है. महिलाएं हरी चूड़ी पहनती हैं. कपड़ों का रंग भी आमतौर पर हरा या लाल रखा जाता है. लिहाजा इस दिन सफेद या काले रंग के कपड़े पहनने की गलती न करें. ऐसा करना अशुभ होता है.
  • – हरियाली तीज का व्रत कर रही हैं तो सुबह ही स्‍नान करके व्रत का संकल्‍प ले लें और फिर दुल्‍हन की तरह सोलह श्रृंगार करके भगवान शिव और माता पार्वती की विधि विधान से पूजा करें.
  •  हरियाली तीज के दिन ना तो अपने मन में किसी के भी प्रति बुरे विचार लाएं और ना ही किसी को बुरा कहें. ऐसा करने से शिव-पार्वती नाराज हो जाते हैं. इस दिन अपने पति पर गुस्‍सा न करें. ना ही झगड़ा आदि करें. यह व्रत पति की ही अच्‍छी सेहत और लंबी उम्र के लिए रखा जाता है.
  • – इस दिन पूजा-पाठ के बाद किसी भी जरूरतमंद को दान अवश्‍य करें.
  • – यह व्रत निर्जला रखा जाता है, यदि महिला गर्भवती न हो और कोई सेहत संबंधी समस्‍या न हो तो पूरे दिन ना तो कुछ खाएं और ना ही पानी का सेवन करें.
  • – इस दिन पूजा-पाठ के बाद ज्‍यादातर समय शिव जी और माता पार्वती की पूजा में लगाएं. हरियाली तीज का दिन बहुत महत्‍वपूर्ण होता है इसे ऐसे ही निरर्थक कामों या बातों में न गंवाएं.

हरियाली तीज का शुभ मुहूर्त (Hariyali Teej 2022 Shubh Muhurat)

तृतीया तिथि प्रारम्भ – जुलाई 31, 2022 को सुबह 02 बजकर 59 मिनट पर शुरू

तृतीया तिथि समाप्त – अगस्त 01, 2022 को सुबह 04 बजकर 18 मिनट पर खत्म

 

हरियाली तीज पूजन विधि (Hariyali Teej Pujan Vidhi)

इस दिन ब्रह्म मुहूर्त पर उठकर स्नान कर लें और साफ कपड़े पहन लें.

मंदिर की अच्छे से सफाई करें और एक चौकी रखें.

चौकी को गंगाजल से साफ कर लें.

चौकी पर सफेद या लाल रंग का कपड़ा बिछाएं.

मिट्टी से भगवान शिव,पार्वती और गणेश जी की मूर्ति बनाएं. आप चाहे तो फोटो का भी रख सकती हैं.

भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने से पहले भगवान गणेश… का आह्वान करें.

माता पार्वती को श्रृंगार का सारा सामान अर्पित करें.

फिर भगवान शिव को  भांग, धतूरा, अक्षत, बेल पत्र, श्वेत फूल, गंध, धूप, वस्त्र आद… आदि चढ़ाएं.

इसके बाद हरियाली तीज की कथा सुनें और फिर भगवान शिव और माता पार्वती की आरती करें.

इसके बाद भगवान को भोग लगाएं.

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments