raipur times
Homeधर्मHartalika Teej 2022: हरतालिका तीज की डेट को लेकर न हों कंफ्यूज,...

Hartalika Teej 2022: हरतालिका तीज की डेट को लेकर न हों कंफ्यूज, यहां जानें पूजा की सही तारीख और नियम….

 RAIPUR TIMES  Hartalika Teej 2022 Date and Time: भादो माह में हरतालिका तीज का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. सुहाग की रक्षा और सुयोग्य वर की प्राप्ति के लिए हरतालिका तीज (Hartalika teej Vrat 2022) का व्रत सुहागिन महिलाएं और कुंवारी लड़कियां जरूर रखती हैं. कहते हैं मां पार्वती ने देवो के देव महादेव को पाने के लिए हरतालिका व्रत किया था. कहते हैं इस व्रत के प्रभाव से पति को दीर्धायु और सुखी जीवन का वरदान प्राप्त होता है. हरतालिका तीज की डेट को लेकर कंफ्यूज न हों. यहां जानें किस दिन मनाई जाएगी हरतालिका तीज.

Ganesh Chaturthi : गणेश चतुर्थी कब है? 10 दिन चलने वाला गणेश महोत्सव इस दिन से होगा शुरू 

हरतालिका तीज 2022 तारीख और मुहूर्त (Hartalika Teej 2022 shubh muhurat)

भादो शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि आरंभ – 29 अगस्त 2022 सोमवार को शाम 3 बजकर 21 मिनट से

भादो शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि समाप्ति – 30 अगस्त 2022 मंगलवार को शाम 3 बजकर 34 मिनट तक

उदयातिथी के अनुसार हरतालिका तीज का त्योहार 30 अगस्त 2022 को मनाया जाएगा.

सुबह का शुभ मुहूर्त-  30 अगस्त 2022, सुबह 06.05 – 08.38 बजे तक

प्रदोष काल मुहूर्त – 30 अगस्त 2022, शाम 06.33- रात 08.51 तक

Hartalika Teej 2022

हरतालिका तीज 2022 संयोग (Hartalika Teej 2022 shubh yoga)

इस साल हरतालिका तीज पर शुभ योग और हस्त नक्षत्र का संयोग बन रहा है. शुभ योग 30 अगस्त को 01.04 AM से 31 अगस्त 2022 को 12.04 AM तक रहेगा. इस योग में महादेव और पार्वती की पूजा से विशेष आशीर्वाद मिलता है. वहीं हरतालिका तीज के पर पूरे दिन हस्त नक्षत्र रहेगा. कहते हैं इस नक्षत्र में 5 तारे आशीर्वाद की मुद्रा में होते हैं इसलिए तीज पर व्रतधारी पर ग्रह नक्षत्र की भी कृपा रहेगी.

हरतालिका तीज के नियम (Hartalika Teej vrat niyam)

  • हरतालिका तीज के व्रत एक बार शुरू कर लिया जाए तो इसे बीच में छोड़ा नहीं जाता. अगर किसी कारणवश ये व्रत न कर पाए तो इसका उद्यापन कर घर में दूसरी महिला को दे दें.
  • हरतालिका तीज पर निर्जला व्रत किया जाता है. इस दिन अन्न, जल का त्याग करना पड़ता है. बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं के लिए फलाहार की जरूर छूट है.
  • धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन व्रतधारी को दिन और रात में सोने की मनाही है. रात्रि में जागरण कर भजन कीर्तन करें, महादेव और मां पार्वती का स्मरण करें.

हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़े रहने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें👇

https://chat.whatsapp.com/GW2o9ghwQNg6YfgPmZNgkP

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments