Raipur Times

Breaking News

Tomato Price: टमाटर की कीमत ने बनाया एक और र‍िकॉर्ड, इस शहर में 162 रुपये क‍िलो हुआ रेट

Tomato Price Hike: टमाटर की महंगी कीमत से आम आदमी को अभी राहत म‍िलती नजर नहीं आ रही है. प‍िछले कुछ द‍िनों में टमाटर के रेट में तेजी से इजाफा हुआ है. देश के कई हिस्सों में बारिश के कारण आपूर्ति प्रभावित होने से टमाटर की खुदरा कीमत 162 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गईं. उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, महानगरों में टमाटर की खुदरा कीमतें कोलकाता में सबसे ज्‍यादा 152 रुपये प्रति किलो रहीं.

यूपी के इस शहर में सबसे ज्‍यादा रेट
इसके बाद दिल्ली में 120 रुपये प्रति किलो, चेन्‍नई में 117 रुपये प्रति किलो और मुंबई में 108 रुपये प्रति किलो टमाटर ब‍िक रहा है. खुदरा टमाटर की अखिल भारतीय औसत कीमत गुरुवार को 95.58 रुपये प्रति किलो थी. आंकड़ों से सामने आया है क‍ि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में इसकी सबसे ज्‍यादा कीमत 162 रुपये प्रति किलो रही, जबकि राजस्थान के चुरू जिले में न्यूनतम दर 31 रुपये प्रति किलो थी.

टमाटर की कीमत र‍िकॉर्ड लेवल पर
देश के अन्य प्रमुख शहरों में भी टमाटर की कीमत र‍िकॉर्ड लेवल पर चल रही हैं. एक द‍िन पहले गुरुग्राम में टमाटर की खुदरा कीमत 140 रुपये प्रति किलो, बेंगलुरु में 110 रुपये प्रति किलो, वाराणसी में 107 रुपये प्रति किलो, हैदराबाद में 98 रुपये प्रति किलो और भोपाल में 90 रुपये किलो थी. आमतौर पर जुलाई-अगस्त के दौरान टमाटर की कीमतें बढ़ जाती हैं. इसका कारण मानसून कर वजह से जल्दी खराब होने वाली वस्तुओं की कटाई और परिवहन प्रभावित होता है.

इससे पहले टमाटर की महंगी कीमत से जनता को राहत देने के ल‍िए तमिलनाडु सरकार ने नया फैसला लिया है. राज्‍य सरकार की तरफ से राशन की दुकानों पर 60 रुपये प्रति किलो के भाव पर टमाटर उपलब्‍ध कराया जा रहा है. सरकार की तरफ से द‍िये गए आदेश में कहा गया क‍ि इस कदम के बाद चेन्‍नई, कोयम्बटूर, सलेम, इरोड और वेल्लोर की पन्‍नई पसुमाई (फार्म फ्रेश) दुकानों पर टमाटर की बिक्री 60 रुपये किलो के रेट पर की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact

Tarun Soni

Raipurtimes.in

Contact : +91 8770017959

Email: raipurtimes2022@gmail.com

Press ESC to close

Urfi Javed Latest Video: कपड़ों की जगह दो मोबाइल फोन लटकाकर निकलीं उर्फी जावेद,