raipur times
Homeछत्तीसगढ़"एक अधिकारी सब पर भारी".. एस.पी. राजेश कुकरेजा के सख्ती से अवैध...

“एक अधिकारी सब पर भारी”.. एस.पी. राजेश कुकरेजा के सख्ती से अवैध शराब और सट्टा पर लगा लगाम!

 

सारंगढ़ हरीश निराला : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जब सारंगढ़ बिलाईगढ़ को जिला घोषित किया तो सारंगढ़ की जनता ने उन्हें हाथो हाथ लिया ऐसा भव्य स्वागत हुआ जो अभूतपूर्व था। कोई जिला तभी आगे बढ़ पाता है जब वहां अनुशासन और न्याय व्यवस्था सुदृढ़ हो,जब कोई पौधा छोटा हो तो उसे उसे देखभाल की ज्यादा आवश्यकता होती है, सारंगढ़ की स्थिति भी मानो उसी छोटे पौधे जैसे ही थी जिसे 03 सितंबर को रोपा गया था, जिसे खरपतवारों, कीट पतंगो और बीमारियों से दूर रखना एक महती जिम्मेदारी थी जिन्हे हम दूसरे भाषा मे कह सकते हैँ कि सारंगढ़ जिला बनने के बाद उसे अवैध शराब, सट्टे और भ्रस्टाचार से मुक्त रखना पहला मकसद था जिसका दाईत्व संवेदनशील पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के कंधो पर थी।

जनता को विश्वास मे लेकर किया काम –
एसपी श्री कुकरेजा ने सबसे पहले जनता और पुलिस की खाई को पाटने का काम किया। अपने दफ्तर मे VIP के चलन को मिटाकर आम जनता के लिए भी पहुंच को शुलभ कराया जिससे समान्य नागरिक भी अपनी समस्याओं को और आस पास मे घट रही घटनाओं को बेझिझक पुलिस कप्तान के समक्ष रख सके।

अवैध शराब और सट्टे लगातार कार्यवाही

जिला बनते ही एसपी ने सभी थाना प्रभारियों को अवैध शराब और सट्टे पर लगाम लगाने शख्त निर्देश दिए जिससे सभी थाना प्रभारियों ने अक्षरशः पालन भी किया। अवैध शराब और सट्टे पर लगातार ताबड़तोड़ कार्यवाही से माफियाओं के होश पाख्ता हो गए, सांसे फुल गयी, सूत्रों की मानें तो कुछ शराब माफिया और सट्टे के खाईवाल तो अब ये गोरखधंधा ही छोड़ दिए हैँ, जिसका सबसे बड़ा श्रेय एसपी राजेश कुकरेजा को जाता है।

सारंगढ़ मे सट्टे पर लगा अंकुश –

एक समय सारंगढ़ सट्टागढ़ बन गया था, लेकिन एसपी के निर्देश पर ताबड़तोड़ कार्यवाही ने बड़े से बड़े खाईवालों को अंडरग्राउंड होने पर मजबूर कर दिया है। एक समय जहाँ हर चौक चौराहों पर सट्टा पट्टी लिखने वालों और दांव लगाने वालों की हुज़ूम उमड़ती थी अब वो देखने को नही मिल रही। हम यह नही कहते की सट्टा और शराब पुरी तरह बंद हो गया है लेकिन जो काम खुलेआम बेधड़क होता था उसमे अब लगाम लग गई है। इसका श्रेय भी एसपी और सारंगढ़ पुलिस को जाती है।

ऑनलाइन सट्टे की ओर रुझान शुरु –

ऑफलाइन सट्टे मे कार्यवाही होते देख अब जुआ प्रेमी मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन सट्टे की ओर ध्यान केंद्रित कर रहे हैँ क्यूंकि कई सारे एप्प इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन जुआ और सट्टा खिलाते हैँ , ये बात और है की ऑनलाइन बुकी से पैसे की आए दिन धोखाधड़ी की शिकायत मिलते रहती है। लेकिन सारंगढ़ मे हो रही लगातार कार्यवाही ने सटोरियों को ऑनलाइन सट्टा खेलने विवश कर दिया है।

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments