raipur times
Homeछत्तीसगढ़Chhattisgarh Weather: छत्तीसगढ़ में कमजोर पड़ा मानसून, बारिश नहीं होने से किसानों...

Chhattisgarh Weather: छत्तीसगढ़ में कमजोर पड़ा मानसून, बारिश नहीं होने से किसानों की बढ़ी चिंता…

Chhattisgarh Weather Forecast: देश के कई इलाकों में बारिश ने तबाही मचाई हुई है तो वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में मानसून कमजोर पड़ गया है. मानसून कमजोर पड़ने की वजह से छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में बारिश नहीं हो रही है. बारिश नहीं होने की वजह से अब किसानों की चिंता बढ़ गई है. क्योंकि अभी किसान फसलों की बुवाई कर रहे हैं, ऐसे में बारिश नहीं होने से उनको भारी नुकसान हो सकता है. वहीं दूसरी ओर लोग बारिश नहीं होने से लोग गर्मी और उमस से परेशान हैं.

CG : 12वीं के छात्र ने पांच मंजिला इमारत से कूदकर की खुदकूशी, सुसाइड नोट में लिखा – स्कूल और पढ़ाई 

24 घंटों में कैसा रहा छत्तीसगढ़ का मौसम 

पिछले 24 घंटों की बात की जाए तो छत्तीसगढ़ में मानसून की गतिविधि कमजोर हो गई है. इस वजह से छत्तीसगढ़ के एक-दो स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई है. छत्तीसगढ़ में अधिकतम तापमान की बात की जाए तो प्रदेश के सभी संभागों में कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुए हैं. छत्तीसगढ़ का रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग और बस्तर संभाग में सामान्य से अधिक तथा सरगुजा संभाग में तापमान सामान्य रहा है.

वहीं न्यूनतम तापमान की बात की जाए तो छत्तीसगढ़ का बस्तर संभाग में गिरावट दर्ज की गई है. बाकी संभागों में कुछ विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है. छत्तीसगढ़ के रायपुर और दुर्ग संभाग में सामान्य से अधिक और बाकी संभागों में तापमान सामान्य रहा. छत्तीसगढ़ का सबसे अधिक तापमान वाला जिला महासमुंद रहा है. जहां 35.3 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है.

वीडियो : पापड़ के पैकेट में छिपाकर ला रहा था 15 लाख डॉलर,एयरपोर्ट पर पकड़ा गया यूं हुआ खुलासा 

24 घंटों में छत्तीसगढ़ में हुई कम बारिश
छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों में कुछ इलाकों में बारिश दर्ज की गई है. जिसमें जगदलपुर में पांच, तोकापाल में तीन, ओड़की, लोरमी, कोटा में दो, सीतापुर मनोरा, सिमगा, कवर्धा, पोड़ीउपरोड़ा, पेंड्रा रोड, राजपुर, सहसपुर लोहारा में एक और कुछ स्थानों पर उससे भी कम बारिश दर्ज की गई है.

क्या कहा मौसम वैज्ञानिक ने?
मौसम वैज्ञानिक एच पी चंद्रा ने बताया कि मॉनसून द्रोणिका माध्य समुद्र तल पर अमृतसर, करनाल, बरेली, बहराइच, और उसके बाद पूर्व की ओर हिमालय की तराई में स्थित है. उत्तर-दक्षिण द्रोणिका दक्षिण छत्तीसगढ़ से तेलंगाना रायलसीमा तमिलनाडु होते हुए कोमोरिन क्षेत्र तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है. प्रदेश में आज 2 अगस्त को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है. प्रदेश में एक के साथ वज्रपात भी होने की संभावना है.

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments