raipur times
HomeदेशChandra Grahan Sutak : जानिए क्या होता है सूतक भूल से भी...

Chandra Grahan Sutak : जानिए क्या होता है सूतक भूल से भी सूतक काल में न करे ये काम….

Chandra Grahan Sutak

क्या होता है सूतक? (What Is Sutak)

ग्रहण के समय सूतक का महत्व माना जाता है। लोग ग्रहण से कुछ घंटे पहले कुछ नियमों का पालन करते हैं और ग्रहण समाप्त होने के तुरंत बाद अपना उपवास समाप्त करते हैं। हालांकि, उपवास तोड़ने से पहले, लोग स्नान करते हैं, अपने इष्ट देवता की पूजा करते हैं, सूर्य या चंद्रमा भगवान का आशीर्वाद लेते हैं और फिर जल और भोजन का सेवन करते हैं।

Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण आज , जाने भारत में कब शुरू होगा?

सूतक का महत्व (Chandra Grahan 2022 Sutak Significance)

प्राचीन ग्रंथों के अनुसार, अन्य खगोलीय पिंडों की गति के कारण पृथ्वी प्रभावित होती है और यह परिवर्तन हमारे ग्रह पर जीवन को एक से अधिक तरीकों से प्रभावित करता है. इसलिए ग्रहण के किसी भी नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए लोग सूतक नियमों का पालन करते हैं जो उन्हें ग्रहण के दौरान किसी अप्रिय घटना से बचा सकते हैं.

आप जानते हैं सूतक के क्या नियम हैं और सूतक काल में क्या करना और क्या नहीं करना चाहिए? आइए जानते हैं इसके बारे में-

 

सूतक काल के दौरान कुछ भी खाना और पीना नहीं चाहिए

ग्रहण के दौरान चंद्र देव, भगवान धनवंतरी और महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें.

ग्रहण के दौरान नुकीली चीजों जैसे चाकू, कैंची आदि चीजों से दूर रहें.

सूतक काल के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान रखना चाहिए. इस दौरान सिलाई-कढ़ाई का कोई काम नहीं करना चाहिए.

सूतक काल के दौरान गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए और पेट पर सूतक लगने के पहले ही गेरू लगा लेना चाहिए.

सूतक काल के दौरान खाना खाने से बचना चाहिए, लेकिन लिक्विड डाइट ले सकते हैं. हालांकि गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों आदि पर ये नियम लागू नहीं होते हैं.

सूतक काल में मंदिर में पूजा न करें. हालांकि जाप करना शुभ माना जाता है.

ग्रहण के दौरान खाने की चीजों में तुलसी का पत्ता डाल देना चाहिए. हालांकि इसे सूतक काल के पहले तोड़ लेना चाहिए.

 

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments