raipur times
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ का दिलचस्प है ये मामला....सातवीं में पढ़ने वाली नरगिस ने किया...

छत्तीसगढ़ का दिलचस्प है ये मामला….सातवीं में पढ़ने वाली नरगिस ने किया कमाल जाने?

 RAIPUR TIMES बालोद| छत्तीसगढ़ के बालोद (Balod)जिले के आत्माानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ने वाली सातवीं कक्षा की छात्रा नरगिस खान (Nargis Khan)को 10वीं की बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति मिल गई है. नरगिस को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 2023 में 10वीं की बोर्ड परीक्षा में उम्मीदवार के रूप में शामिल होने की विशेष अनुमति दी गई है। इस फैसले के बाद से नरगिस समेत परिवार के सदस्यों में खुशी की लहर है। दरअसल, बालोद जिले के घुमका गांव निवासी 12 वर्षीय नरगिस खान ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा देने की इच्छा जाहिर करते हुए शिक्षा विभाग से अनुमति मांगी थी.

शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले का यह ऐसा पहला मामला है, जब कम उम्र में छात्रा 10वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होगी। इस संबंध में छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर के सचिव प्रो. वीके गोयल ने छात्रा की पिता को पत्र भेजकर परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी है। सचिव की ओर से जारी पत्र में उल्लेख किया गया है कि छात्रा की जन्मतिथि 12 जून 2010 है। इस लिहाज से एक जुलाई 2022 को छात्रा की उम्र 12 साल और 19 दिन हो चुकी है।

रायपुर में 19 साल की Model से बलात्‍कार,थाने पहुंची पीड़िता, सुरक्षित नहीं हैं महिलाएं 

इसके बाद नरगिस का आईक्यू लेवल टेस्ट हुआ था. इस टेस्ट में वह सफलतापूर्वक पास हुईं और फिर 7वीं की छात्रा नरगिस खान Nargis Khan को 10वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने अनुमति प्रदान की गई है. हाल ही में नरगिस ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात करने के लिए इजाजत मांगी थी. यहां गौर करने वाली बात ये है कि नरगिस शुरू से ही होनहार स्टूडेंट रही हैं. उन्होंने छठवीं क्लास से ही 10वीं बोर्ड परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी. नरगिस हर कठिन से कठिन सवालों को चुटकियों में हल कर लेती है.

हर एग्जाम मिलते हैं 99 फीसदी नंबर

नरगिस Nargis Khan की प्रतिभा को देखकर उनके पिता फिरोज खान ने उन्हें 10वीं क्लास में एडमिशन दिलाने का विचार किया. इसके बाद उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी के पास 10वीं बोर्ड एग्जाम देने की अनुमति देने के लिए अप्लाई किया था. नरगिस के स्कूल टीचर बताते हैं कि वो हर एग्जाम में 99 फीसदी नंबर लाकर पास करती हैं. वह कठिन से कठिन सवालों के हल वह चुटकियों में करती है और लंबे से लंबा उत्तर भी उन्हें बस दो बार पढ़ते ही याद हो जाता है. स्कूल के टीचर भी मान रहे हैं कि नरगिस में टैलेंट है. वो कहते हैं कि नरगिस काफी होनहार और प्रतिभावान छात्रा है.

कैसे शुरू हुई तैयारी?

नरगिस कहती हैं कि उन्होंने इंटरनेट पर काफी कुछ सर्च किया. जब उन्होंने काफी लोगों के बारे में पढ़ा और देखा तो उन्हें अपनी प्रतिभा का आंकलन हुआ. नरगिस ने कहा कि यंगेस्ट यूपीएससी टॉपर भी हो सकते हैं, तो मैं क्यों नहीं बन सकती. यहीं सोचकर उन्होंने 10वीं बोर्ड एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी.

 

- Advertisement -
raipur times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments